Best NGO in India, Education NGO Lucknow, Unite Foundation | Health NGO Lucknow, Skills Development NGO Lucknow | यूनाइट परिचय

EMAIL

news14400@gmail.com

Call Now

+91-7-376-376-376

यूनाइट परिचय

About

यूनाइट परिचय

'वसुधैव कुटुम्बकम' अर्थात् 'पूरी सृष्टि एक परिवार है'


यूनाइट फाउण्डेशन सनातन परम्परा के मूल मंत्र 'वसुधैव कुटुम्बकम' यानी 'पूरी सृष्टि एक परिवार है' के आदर्श वाक्य के तहत इस दिशा में प्रयासरत है जिससे मानव जगत श्रष्टि के संरक्षण और उसके संवर्धन में एकजुट हो। Nurture the Nature इस मूल मंत्र के मद्देनजर हम भारतीय परम्पराओं, योग, आयुर्विज्ञान, प्राचीन ज्ञान विज्ञान सहित विशिष्ट भारतीय जीवनपद्धति को सम्पूर्ण मानव जगत के कल्याण के लिए उन के साथ सेवाकार्यों में लगे संगठनों और समाजसेवियों को एक सूत्र में पिरोने के उद्देश्य से की गई है। यूनाइट फाउण्डेशन का कार्यक्षेत्र केवल उत्तर प्रदेश और देश तक सीमित न होकर अन्तर्राष्ट्रीय जगत तक विस्तृत है।


NGO Image


सहयोग

यूनाइट फाउण्डेशन के विशेष कार्यों में सहभागी बनने के लिए अपने उपलब्ध समय को हमारे साथ साझा करें, यूनाइट गतिविधियों में अपनी विशेषज्ञता का योगदान करें।

यूनाइट स्वयंसेवी

अगर आप एक विद्यार्थी हैं, गृहणी हैं, शिक्षक हैं, सेवानिवृत्त अधिकारी हैं और आप अपने बचे समय को समाज के हित में लगाना चाहते हैं।

आवेदन करें

आर्थिक योगदान

अगर आप यूनाइट फ़ाउंडेशन को आर्थिक सहयोग करना चाहते हैं तो आप ऑनलाइन/ऑफलाइन योगदान कर सकते हैं। इसके लिए आप यहाँ रजिस्ट्रेशन करें।

अभी सहयोग करें


हमे क्यों चुने ?

क्योंकि हम आपको जोड़ते - 

  • भारत की अतुल्य और अमूल्य वैदिक संस्कृति से 
  • मानवीय मूल्यों से 
  • सम भाव की भावना से 
  • भारत की परम्पराओं से 
  • राष्ट्र उत्थान की भावना से      

क्योंकि हम चाहते है -

  • सम्पूर्ण विश्व एक जुट हो, श्रृष्टि के संरक्षण और संवर्धन में 
  • पेड़,पौधे,प्रकृति के बचाव में आपकी सहभागिता 
  • सम्पूर्ण राष्ट्र में एकत्व की भावना का विकास हो 

क्योंकि हम मानते है -

  • सम्पूर्ण श्रृष्टि एक परिवार है और इस श्रृष्टि का हर व्यक्ति हमारा अंग 


सामाजिक और सांस्कृतिक विकास कार्य

  • भेद-भाव को दूर कर सम-भाव  का विचार विकसित करना.
  • नवस्रज्नात्मकता को बढावा देना,और उसे राष्ट्र पटल पर रखकर जिम्मेदार व्यक्ति से आगे की रणनीति तैयार करना.
  • तरुणावस्था से ही छात्र के विशिस्ट गुणों को आगे लाने के लिए विशिस्ट शिक्षा पद्धति पर राज्य,और केंद्र स्तर पर विचार रखना और उचित क्रियान्वन हेतु निरंतर सामंजस्य बनाना.
  • नकारात्मकता को दूर कर सकारात्मकता के पथ का विस्तार करना.
  • भारतीय मूल और प्राचीन तथ्यों को स्कूलो कॉलेजों में वर्कशॉप के जरिये बताना तथा वैदिक संस्कृति की जड़ो से जुडाव बढ़ाने हेतु नए कदम उठाना.
  • व्यक्ति के सर्वांगीण विकास के साथ साथ भारतीय संस्कृति के मूल को सिंचित और संरिक्षित रखने के लिए तत्पर.
  • राष्ट्रीय समस्याओं के साथ साथ अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भी हर संभव मदद और उनके निवारण के लिए सजग और कटिबद्ध.
  • मानव मूल्यों के साथ साथ सांस्कृतिक मूल्यों को बढावा देने के लिए "अम्ब्रेला सिस्टम" के अंतर्गत रास्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओ को अपने साथ साथ जोड़ना.

जीवन कौशल विकास

कला और कौशल, एक ही सिक्के के दो पहलू। जीवन कौशल विकास के ज़रिये यूनाइट फाउंडेशन ऐसे पहुंचना चाहता है जिनके पास कला के साथ अपना कौशल दिखाने का जज़्बा तो है लेकिन ज़रिया नहीं।

  • पुरानी जीवन कौशल की पद्धति के साथ साथ नयी जीवन शैली के विकास को कुशलता के साथ बढ़ावा देना
  • सुदूर क्षेत्रो में नए रोजगारों के साथ साथ जीवन कौशल के बारे में बताना और उनके स्थाइत्व के लिए वर्कशॉप संचालित करना
  • युआ वर्ग को ध्यान में रखकर आर्थिक उत्थान वाले रोज़गार को बढ़ावा देना
  • गैर हुनर व्यक्ति को रोजगार परक बनाना जिससे वह अपना जीवन, कौशल और कुशलता से जी सके  
  • महिलाओं की दिशा और दशा को सुधारने हेतु जीवन कौशल को बढ़ावा देना जिससे वह सामाजिक,पारिवारिक व व्यक्तिगत विकास की दिशा में अपनी भूमिका अदा कर सके
  • समयानुसार व्यक्तिगत परख हेतु नए मापदंड बनाना जिससे उस दिशा में हो रहे विकास का वह तुलनात्मक अध्ययन कर सके

स्वास्थ्य् एवं शिक्षा

  • व्यक्तिगत स्वास्थ्य तथा पारिवारिक स्वास्थ्य की रक्षा हेतु लोगों को स्वास्थ्य के नियमो को बताना
  • संक्रामक रोगों की पहचान हेतु वर्कशॉप आयोजित करना 
  •  लोगों को स्वास्थ्य शिक्षा दिलाना जो रोगियों की सेवा हेतु तत्पर रहे
  • रोग से सम्बन्धित रोगी के मन से भ्रमात्मक विचार तथा अंधविश्वास को दूर करना तथा सामाजिक जागरूकता फैलाना
  • जिला स्तर पर स्वास्थ्य शिक्षा के लिए योजना बनाना, लोगो को शिक्षित कर सशक्त बनाना
  •  राज्य स्तरीय शिक्षा विभागों से संपर्क स्थापित कर स्वस्थ्य और शिक्षा को नए आयाम देना.
  • स्वास्थ्य शिक्षा कार्यक्रम को सुगम बनाने के साथ साथ उसे सशक्त बनाना
  • स्वास्थ्य और शिक्षा पर क्षेत्रीय लोगों को शिक्षित कर उन्हें सजग बनाना 

आपदा/ संकट के दौरान सहयोग/ प्रबंधन

  • आपदा / संकट जागरूक कार्यकमो की शुरुआत करना और नए स्रजनात्मक कार्यों को बडवा देना
  • राष्ट्रीय,राज्य और जिला स्तरीय सुरक्षा पैनल को गठित करना
  • आपदा संकट से निराश हुए लोगो को फिर से आशान्वित करना  
  • आपदा/संकट से निपटने हेतु नए कार्यानुभवी युवक और युवतियों द्वारा एक निर्भय टीम का गठन करना
  • ट्रेनिंग देकर महिलाओ और पुरुषो को आपदा / संकट से लड़ने हेतु तैयार रखना
  • अतिवृष्टि तथा अनावृष्टि के लिए लोगो को जागरूक बना के तैयार रखना
  • बिजली,पानी,घर आदि बुनियादी ज़रुरतो को पुनः निर्माण हेतु सरकार से सामंजस्य बनाये रखना 
  • महिलाओं,बच्चों,और बुजुर्गों के लिए विशेष टीम गठित करना 

क्षमता निर्माण (राष्ट्रीय सामाजिक विकास)

क्षमता निर्माण से बेहतर सम्वाद स्थापित होगा,जिससे स्वास्थ्य,कृषि,व्यापार,और समाज के किये कल्याणकारी भावना का विकास होगा. राष्ट्रीय सामाजिक विकास में मदद मिलेगी .

व्यक्ति की मन स्थिति में क्रियात्मकता ,सकारात्मकता ,भावात्मकता ,एकात्मकता और दूरदर्शिता का विस्तार होगा .

विशिष्ट वक्तव्य 

विशिष्ट महानुभावों के वशिष्ट अवसरों पर राय

Facebook
Follow us on Twitter
Recommend us on Google Plus
Visit To Website
Visit To Website