EMAIL

info@unitefoundation.in

Call Now

+91-7-376-376-376

ब्लॉग

डायलाग और अभिनय ने बनाया दर्शकों को दिवाना
01-Jan-2019    |    Views : 000173

LUCKNOW. नाना पाटेकर भारतीय फिल्‍मों के अभिनेता हैं। वे लेखक और फिल्‍म निर्माता भी हैं। नाना हिन्‍दी फिल्‍मों के मशहूर अभिनेता माने जाते हैं। उनके अभिनय के सभी कायल हैं और यही कारण है कि उन्‍हें आज तक कई बार राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार और फिल्‍मफेयर पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया जा चुका है।

डायलाग और अभिनय ने बनाया दर्शकों को दिवाना

LUCKNOW. नाना पाटेकर भारतीय फिल्‍मों के अभिनेता हैं। वे लेखक और फिल्‍म निर्माता भी हैं। नाना हिन्‍दी फिल्‍मों के मशहूर अभिनेता माने जाते हैं। उनके अभिनय के सभी कायल हैं और यही कारण है कि उन्‍हें आज तक कई बार राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार और फिल्‍मफेयर पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया जा चुका है। उन्‍हें पद्मश्री सम्‍मान भी मिल चुका है। वे इंडस्‍ट्री में अपने डॉयलाग को बोलने की स्‍टाइल को लेकर काफी मशहूर हैं। उनके अभिनय के दीवाने आपको हर आयु वर्ग में मिल जाएंगे।

नाना का जन्‍म मुरूड-जंजीरा, रायगढ़, म‍हाराष्‍ट्र में 1 जनवरी 1951 में हुआ था। उनके पिता का नाम दिनकर पाटेकर और मां का नाम संजनाबाई पाटेकर है। नाना की पढ़ाई सर जे जे इंस्‍टीट्यूट ऑफ अप्‍लाईड आर्ट, मुंबई से हुई थी। नाना की शादी नीलाकांती पाटेकर से हुई लेकिन बाद में उनका तलाक हो गया। उनका एक लड़का भी है जिसका नाम मल्‍हार है। नाना के करियर की शुरूआत फिल्‍म 'गमन' से हुई थी लेकिन इंडस्‍ट्री में उन्‍हें फिल्‍म 'परिंदा' से नोटिस किया गया जिसमें उन्‍होंने खलनायक की भूमिका अदा की थी। इस फिल्‍म में उनके अभिनय के लिए उन्‍हें सर्वश्रेष्‍ठ सहायक अभिनेता का राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार और सर्वश्रेष्‍ठ सहायक अभिनेता का फिल्‍मफेयर पुरस्‍कार भी दिया गया। इसके बाद उन्‍होंने कई अच्‍छी फिल्‍मों में काम किया और अपने अभिनय का लोहा मनवाया। क्रांतिवीर, खामोशी, यशवंत, अब तक छप्‍पन, अपहरण, वेलकम, राजनीति उनकी प्रमुख फिल्‍मों में से एक हैं।

1 जनवरी का इतिहास के कुछ महत्वपूर्ण घटनाओं के बारेंमे, उन लोगों के जन्मदिन के बारेमें जानते है जिन्होंने दुनिया में आकर बहुत बड़ा नाम किया साथ ही उन मशहूर लोगों के बारेंमे जो इस दुनिया से चले गए।

1 जनवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

आस्ट्रेलिया के लाइबाख क्षेत्र से यहूदियों को 1515 में निष्कासित किया गया।

चार्ल्स द्वितीय स्टुआर्ट स्कॉटलैंड के राजा 1651 बने।

स्कॉटलैंड में 25 मार्च के बजाय एक जनवरी से नये साल की शुरुआत 1600 से हुयी।

छत्रपति शिवाजी ने 1664 में सूरत अभियान शुरु किया।

महाराजा जय सिंह द्वितीय ने जयपुर शहर की स्थापना 1727 में की।

आस्ट्रेलिया और फ्रांस के बीच शांति समझौते पर 1738 हस्ताक्षर किये गए।

पेशवा माधव राव प्रथम का निधन होने के बाद 1772 में उनके छोटे भाई नारायण राव ने गद्दी संभाली।

डेली यूनिवर्सल रजिस्टर (टाइम्स आॅफ लंदन) का 1785 में पहला अंक प्रकाशित हुआ।

अफ्रीकी देश 1808 में सिएरा लियोन ब्रिटिश उपनिवेश बना।

बेल्जियम और हॉलैंड के बीच जोनहोवेन संधि पर 1833 में हस्ताक्षर किये गए।

भारतीय दंड संहिता 1862 में लागू किया गया।

इंग्लैण्ड की महारानी विक्टोरिया 1877 में भारत की साम्राज्ञी बनी।

देश में मनी आर्डर प्रणाली की शुरुआत 1880 में हुई।

ब्रिटिश सरकार ने भारतीय मानक को 1906 में स्वीकार किया।

अमेरिका ने निकारागुआ पर 1909 में हमला किया।

रिपब्लिक ऑफ चाइना की स्‍थापना 1912 में हुई।

महात्मा गांधी को दक्षिण अफ्रीका में उनके कार्यों के लिये 1915 में वायसराॅय ने केसर-ए-हिंद से सम्मानित किया।

उत्तरपूर्वी यूरोपीय देश लताविया ने रूस से स्वतंत्रता की घोषणा 1918 में की।

अमेरिका में पहला एयर कंडीशंड कार्यालय 1928 में सेन एंतोनियो में खुला।

इटली का संविधान 1948 को अस्तित्‍व में आया था।

बिहार की राजधानी पटना के पास 1948 में स्टीमर ‘नारायणी’ दुर्घटनाग्रस्त होने से पांच सौ लोग डूबे।

कश्मीर में युद्धविराम की घोषणा 1949 में हुई।

ब्रिटिश सेना ने मिस्र के इस्मालिया क्षेत्र पर कब्जा 1951 में किया।

भूटान ने पहला डाक टिकट 1955 में जारी किया गया।

मोरक्को ने स्वतंत्रता 1956 में हासिल की।

टेलीविजन पर सिगरेट विज्ञापनों का प्रसारण 1971 में प्रतिबंधित किया गया।

1972 में बाघ को राष्ट्रीय पशु चुना गया।

एयर इंडिया का बोइंग 747 1978 में हादसे का शिकार हुआ था. इस विमान में सवार सभी 213 लोगों की मौत हो गई थी।

लीबिया सरकार द्वारा सभी नागरिकों के लिए सैन्य प्रशिक्षण 1985 में अनिवार्य घोषित हुआ।

भारत और पाकिस्तान ने 1992 में पहली बार अपने परमाणु प्रतिष्ठानों की सूचियों की अदला-बदली की।

चेकोस्लोवाकिया का दो स्वतंत्र गणराज्यों- चेक एवं स्लोवाक के रूप में विभाजन 1993 में हुआ।

उत्तरी अफ़्रीका 1994 में मुक्त व्यापार समझौता (नाफ्टा) व्यापारिक बना।

विश्व व्यापार संगठन 1995 में अस्तित्व में आया।

सिंगापुर 1996 में एशिया का जापान के बाद दूसरा विकसित देश बना।

कलकत्ता का नाम आधिकारिक तौर पर 2001 में कोलकाता हुआ था।

चेक राष्ट्रपति वाक्लाव हावेल को 2004 में गांधी शांति पुरस्कार प्रदान किये गये, सार्क देशों ने दक्षिण एशिया को मुक्त व्यापार क्षेत्र बनाने वाली साफ्टा संधि और सार्क आतंकवाद विरोधी संधि को मंजूरी दी।

इंडोनेशिया और भारत के अंडमान निकोबार द्वीप समूह में 2005 में पुन: भूकम्प के झटके।

थाइलैंड की राजधानी बैंकाक के एक नाइट क्लब में 2009 में आग लगने से 61 लोगों की मौत हुई।

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने 2013 में मंगल ग्रह पर मावेन यान को भेजा।

1 जनवरी को जन्मे व्यक्ति

1875 – लखनऊ के प्रसिद्ध शायर हसरत मुहानी का जन्म।

1890 – भारत प्रसिद्ध राजनेता सम्पूर्णानन्द का जन्म।

1892 – भारत के महान क्रांतिकारी महादेव देसाई का जन्म।

1894 – प्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिक प्रोफेसर सत्येंद्रनाथ बोस का जन्म।

1914 – प्रसिद्ध बांग्ला लेखक अद्वैत मल्लबर्मन का जन्म।

1914 – भारतीय राजकुमारी नूर इनायात ख़ाँ का जन्म।

1920 – समाजवादी विचारधारा के महान भारतीय नेता मनीराम बागड़ी का जन्म।

1936 – 1950-60 की हिन्दी सिनेमा की प्रसिद्ध अभिनेत्री शकीला का जन्म।

1937 –प्रख्यात उपन्यासकार काशीनाथ सिंह का जन्म।

1941 –भारतीय हिन्दी फ़िल्मों के ख्याति प्राप्त हास्य अभिनेता असरानी का जन्म।

1943 – भारतीय वैज्ञानिक रघुनाथ अनंत माशेलकर का जन्म।

1950 – निर्माता निर्देशक, पटकथा लेखक दीपा मेहता का जन्म।

1950 – प्रसिद्ध गीतकार एवं उर्दू कवि राहत इंदौरी का जन्म।

1951 – बोलीवुड के लोकप्रिय अभिनेता नाना पाटेकर का जन्म।

1952 – हिन्दी कथाकार व उपन्यासकार उदय प्रकाश का जन्म।

1953 – राजनीतिज्ञ सलमान खुर्शीद का जन्म।

1961 – भारतीय राजनीतिज्ञ तथा मणिपुर के मुख्यमंत्री हैं एन. बीरेन सिंह का जन्म।

1975 – हिन्दी फ़िल्मों की एक अभिनेत्री सोनाली बेंद्रे का जन्म।

1978 – हिन्दी फ़िल्मों की अभिनेत्री विद्या बालन का जन्म।

1978 – हिन्दी फ़िल्मों की अभिनेत्री तनीशा का जन्म।

1 जनवरी को हुए निधन

 भारत के प्रसिद्ध भू-वैज्ञानिक हेमचंद दासगुप्त का 1933 में निधन हुआ।

भारत के प्रसिद्ध वैज्ञानिक शान्ति स्वरूप भटनागर का 1955 में निधन हुआ।

प्रसिद्ध तेलुगु लेखक पानुगंटि लक्ष्मी नरसिंग राव का 1940 में निधन हुआ।

एक प्रसिद्ध भारतीय उद्यमी डी. एन. खुरोदे, जिन्हें भारत के दुग्ध उद्योग में उनके योगदान के लिए जाना जाता है उनका 1983 में निधन हुआ।

पूर्व केन्द्रीय शिक्षा मंत्री एवं लेखक प्रताप चन्द्र चंदर 2008 में निधन हुआ।

Save the Children India, Best NGO to Support Child Rights, Best NGO in Lucknow, Skills Development NGO, Health NGO Lucknow, Education NGO Lucknow, NGO for Women Empowerment, NGO in India, Non Governmental Organisations, Non Profit Organisations, Best NGO in India

 


All Comments

Leave a Comment

विशिष्ट वक्तव्य 

विशिष्ट महानुभावों के वशिष्ट अवसरों पर राय

Facebook
Follow us on Twitter
Recommend us on Google Plus
Visit To Website