EMAIL

Call Now

ब्लॉग

छोटी सी आयु में ही स्वतंत्रता संग्राम में कूद कर जेल गये मन्मनाथ
07-Feb-2019    |    Views : 000116

LUCKNOW. मन्मथनाथ गुप्त, भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के एक प्रमुख क्रान्तिकारी तथा सिद्धहस्त लेखक थे। उन्होंने हिन्दी, अंग्रेजी तथा बांग्ला में आत्मकथात्मक, ऐतिहासिक एवं गल्प साहित्य की रचना की है। वे मात्र 13 वर्ष की आयु में ही स्वतन्त्रता संग्राम में कूद गये और जेल गये।

छोटी सी आयु में ही स्वतंत्रता संग्राम में कूद कर जेल गये मन्मनाथ

LUCKNOW. मन्मथनाथ गुप्त, भारतीय स्वतन्त्रता संग्राम के एक प्रमुख क्रान्तिकारी तथा सिद्धहस्त लेखक थे। उन्होंने हिन्दी, अंग्रेजी तथा बांग्ला में आत्मकथात्मक, ऐतिहासिक एवं गल्प साहित्य की रचना की है। वे मात्र 13 वर्ष की आयु में ही स्वतन्त्रता संग्राम में कूद गये और जेल गये। बाद में वे हिन्दुस्तान रिपब्लिकन ऐसोसिएशन के सक्रिय सदस्य भी बने और 17 वर्ष की आयु में उन्होंने सन् 1925 में हुए काकोरी काण्ड में सक्रिय रूप से भाग लिया। उनकी असावधानी से ही इस काण्ड में अहमद अली नाम का एक रेल-यात्री मारा गया जिसके कारण 4 लोगों को फाँसी की सजा मिली जबकि मन्मथ की आयु कम होने के कारण उन्हें मात्र 14 वर्ष की सख्त सजा दी गयी। 1937 में जेल से छूटकर आये तो फिर क्रान्तिकारी लेख लिखने लगे जिसके कारण उन्हें 1939 में फिर सजा हुई और वे भारत के स्वतन्त्र होने से एक वर्ष पूर्व 1946 तक जेल में रहे। स्वतन्त्र भारत में वे योजना, बाल भारती और आजकल नामक हिन्दी पत्रिकाओं के सम्पादक भी रहे। नई दिल्ली स्थित निजामुद्दीन ईस्ट में अपने निवास पर 26 अक्टूबर 2000 को दीपावली के दिन उनका जीवन-दीप बुझ गया।

मन्मथनाथ गुप्त का जन्म 7 फ़रवरी सन् 1908 ई. को वाराणसी में हुआ। उनके पितामह (दादा जी) आद्यानाथ गुप्त बंगाल छोडकर सन् 1880 में ही हुगली से बनारस आ गये थे। मन्मथनाथ के पिता वीरेश्वर गुप्त पहले नेपाल के विराट नगर में प्रधानाध्यापक थे बाद में वे बनारस आ गये। मन्मथ की पढाई-लिखाई दो वर्ष तक नेपाल में हुई फिर उसे काशी विद्यापीठ में दाखिल करा दिया गया।

क्रान्तिकारी आन्दोलन के एक क्रियाशील सदस्य रहे, जिन दिनों की चर्चा बाद में उन्होंने अपनी पुस्तक 'क्रान्तियुग के संस्मरण' (प्रकाशन वर्ष: 1937 ई0) में की है। वे संस्मरण इतिहास के साथ-साथ अकाल्पनिक गद्य-शैली के अच्छे नमूने भी हैं। गुप्त जी ने साहित्य की विभिन्न विधाओं में लिखा है। आपके प्रकाशित ग्रन्थों की संख्या 80 के लगभग है। कथा साहित्य और समीक्षा के क्षेत्र में आपका कार्य विशेष महत्व का है। बहता पानी (प्रकाशन वर्ष: 1955 ई.) उपन्यास क्रान्तिकारी चरित्रों को लेकर चलता है। समीक्षा-कृतियों में कथाकार प्रेमचंद (प्रकाशन वर्ष: 1946ई.), प्रगतिवाद की रूपरेखा (प्रकाशन वर्ष: 1953 ई.) तथा साहित्य, कला, समीक्षा (प्रकाशन वर्ष: 1954 ई.) की अधिक ख्याति हुई हैं।

7 फरवरी का दिन इतिहास का बेहद महत्वपूर्ण दिन है, क्योंकि इसी दिन पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को 2009 में डी. लिट् की उपाधि से नवाजा गया, इसके अलावा इतिहास में कई ऐसी घटनाएं घटित हुई, जो हमेशा के लिए इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गईं।

7 फ़रवरी की महत्त्वपूर्ण घटनाएँ

प्रुशिया एवं आस्ट्रेलिया ने 1792 में फ़्रांस के ख़िलाफ़ एक समझौते पर हस्ताक्षर किये।

यूरोपीय देश बेल्जियम ने 1831 में संविधान स्वीकार किया।

अमेरिका के बाल्टिमोर में 1904 में जबरदस्त आग लगने से पन्द्रह सौ इमारतें जल कर खाक।

चलती ट्रेन से 1915 में पहली बार भेजा गया वायरलेस संदेश रेलवे स्टेशन को प्राप्त हुआ।

ब्रिटेन में रेलवे का राष्ट्रीयकरण 1940 में हुआ।

यूनाइटेड किंगडम ने थाईलैंड के खिलाफ युद्ध की घोषणा 1942 में की।

अमेरिका, ब्रिटेन, और रूस ने 1945 में द्वितीय विश्व युद्ध के अंतिम चरण पर चर्चा की।

अरब और यहूदियों ने 1947 में फिलीस्तीन को विभाजित करने के ब्रिटेन के प्रस्ताव को खारिज किया।

क्यूबा से सभी तरह के आयात पर अमेरिका ने 1962 में रोक लगाई।

जर्मनी की एक कोयला खदान में 1962 में हुए विस्फोट से लगभग 300 मज़दूरों की जान गयी।

अमेरिका ने 1965 में उत्तरी वियतनाम में लगातार हवाई हमले शुरु किये।

1983 में कोलकाता में ईस्टर्न न्यूज एजेंसी की स्थापना।

जापान द्वारा 1987 में अफ़्रीकन नेशनल कांग्रेस (ए.एन.सी) को मान्यता।

1999 में जार्डन के शाह हुसैन की मौत, अब्दुला नये शाह बने।

वाशिंगटन में भारत और अमेरिका के बीच गठित संयुक्त विरोधी दल की पहली बैठक 7 फरवरी , 2000 को शुरु हुई ।

एरियल शेरोन 2001 में इजरायल के प्रधानमंत्री के रुप में चुने गये ।

फ्रांस के प्रधानमंत्री ज्यां पियरे रैफरिन 2003 में भारत यात्रा पर नई दिल्ली पहुंचे।

नेपाल में स्थानीय निकायों के लिए 2006 में वोटिंग हुई

इक्वाडोर का तंगुराही ज्वालामुखी 2008 को फटा।

महाराष्ट्र के राज्यपाल एससी जमीर ने 2009 में स्वतंत्र भारत की 12वी तथा पहली महिला राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल को डी॰ लिट् की उपाधि से नवाजा।

दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित 19वां अंतराष्ट्रीय पुस्तक मेला 2010 को खत्म हुआ।

उत्तरी कोरिया ने कई संयुक्त राष्ट्र संधियों का उल्लंघन करते हुए 2016 को बाह्रा अंतरिक्ष में सैटेलाइट लॉन्च किया था।

7 फ़रवरी को जन्मे व्यक्ति

डॉ. भीमराव आम्बेडकर की पत्नी रमाबाई आम्बेडकर का जन्म सन 1898 में हुआ।

प्रमुख क्रान्तिकारी तथा लेखक मन्मथनाथ गुप्त का जन्म सन 1908 में हुआ।

भोजपुरी और हिन्दी फ़िल्मों के प्रसिद्ध अभिनेता सुजीत कुमार का जन्म सन 1934 में हुआ।

मार्क्सवादी नेता एस. रामचंद्रन पिल्लै का जन्म सन 1938 में हुआ।

भारतीय अभिनेत्री अंकिता शर्मा का 7 फरवरी साल 1987 में जन्म हुआ।

अभिनेत्री प्राची शाह का 7 फरवरी, 1980 को जन्म हुआ।

भारत के प्रसिद्ध बैडमिंटन खिलाड़ी किदम्बी श्रीकान्त का जन्म सन 1993 में हुआ।

7 फ़रवरी को हुए निधन

1942 में भारत के प्रसिद्ध क्रांतिकारी शचीन्द्रनाथ सान्याल का निधन।

2010 में पंजाबी के प्रसिद्ध आलोचक डा. टी आर विनोद का निधन।

7 फरवरी के महत्वपूर्ण उत्सव

रोज डे

वन अग्नि सुरक्षा ( सप्ताह )

 

 

Save the Children India, Best NGO to Support Child Rights, Best NGO in Lucknow, Skills Development NGO, Health NGO Lucknow, Education NGO Lucknow, NGO for Women Empowerment, NGO in India, Non Governmental Organisations, Non Profit Organisations, Best NGO in India

 


All Comments

Leave a Comment

विशिष्ट वक्तव्य 

विशिष्ट महानुभावों के वशिष्ट अवसरों पर राय

Facebook
Follow us on Twitter
Recommend us on Google Plus
Visit To Website